PUNJAB WEATHER

पूर्वी लद्दाख से सेनाओं की वापसी के मसले पर राहुल गांधी के बयान पर बीजेपी का पलटवार


dfrarnathsingh

पूर्वी लद्दाख से सेनाओं की वापसी के मसले पर राहुल गांधी के बयान पर बीजेपी का पलटवार

पूर्वी लद्दाख में भारत और चीन के बीच हुई सहमति के तहत दोनो सेनाएं पूर्ववर्ती स्थिती में वापस आना शुरू हो गई है और तनाव को कम करने पर लगातार काम जारी है लेकिन कांग्रेस पार्टी ने इस समझौते पर सवाल खड़े किये है जिसके बाद सरकार और भाजपा ने राहुल गांधी पर जमकर हमला बोला है... रक्षा मंत्रालय ने भी आज फिर से स्पष्ट किया है कि नये समझौते से भारत की एक इंच जमीन भी चीन के हिस्से में नही गई है।

 

लद्दाख में चीन की सेना के साथ LAC पर बीते साल शुरू हुए तनाव को कम करते हुए बुधवार से ही दोनों सेनाओं ने समझौते के तहत वापसी शुरु कर दी है। इस समझौते के तहत सेनाएं अप्रैल-मई 2020 से पहले की स्थिति पर वापस जाएंगी जहां एक ओर भारत के अडिग रूख से चीन को वापस जाने पर मजबूर होना पड़ा है तो वही देश में इस मुद्दे पर राजनीति देखने को मिल रही है। मीडिया और सोशल मीडिया के माध्यम से इस बारे में फैलाई जा रही भ्रामक जानकारी पर रक्षा मंत्रालय ने एक बयान जारी किया है ।  बयान में कहा गया है कि

मीडिया और सोशल मीडिया में गलत जानकारी दी जा रही है ।  ये जानकारी की भारत  की सीमा फिंगर 4 तक है पूरी तरह से गलत है । भारत की सीमा वो है जो भारत के मानचित्र में दिखायी गयी है और इसमें 43 हजार वर्ग किमी से ज्यादा का वो क्षेत्र भी शामिल है जो 1962 से ही चीन के अनाधिकृत  कब्जे में है । भारत के मुताबिक एलएसी भी फिंगर आठ पर है न कि फिंगर चार पर । इसलिये भारत लगातार फिंगर 8 तक पेट्रोलिंग के अधिकार की बात करता है ।नए समझौते के तहत भारत ने अपनी कोई भूमि नहीं गंवाई है । इसके विपरीत भारत ने मौजूदा स्थिति में बदलाव की एकतरफा कोशिश को नाकाम कर दिया है ।

संसद में रक्षामंत्री के बयान में ही साफ कर दिया गया है कि हॉट स्प्रिंग, गोगरा और डेपसांग समेत जो अन्य अनसुलझे मसले है उन पर भी बातचीत होगी।  पैंगोग लेक से सेना वापसी के 48 घंटे के अंदर दोनो देश इस मुद्दे पर चर्चा करेंगे ।  बयान में कहा गया है कि पूर्वी लद्दाख में भारतीय हितों और क्षेत्रों की पूरी तरह से रक्षा की गयी है क्योंकि सरकार ने भारतीय सशस्त्र बलों की क्षमता पर पूरा भरोसा जताया है  । हमारे सैनिकों की शहादत के चलते हासिल हुई उपलब्धि पर जो लोग सवाल उठा रहे हैं वो दरअसल उनका अपमान कर रहे है।

चीन के साथ हुए समझौते पर विदेश मंत्रालय ने भी स्पष्ट किया है दोनो देशो की सेनाएं अपनी पूर्व की स्थिति पर जायेगी जिसमें भारत अपनी एक इंच जमीन भी चीन को नही दे रहा है।

पूर्वी लद्दाख के मसले पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने शुक्रवार सुबह प्रेस कांफ्रेस करके लगाए गए आरोपों पर बीजेपी ने करारा पलटवार किया है। अगर किसी ने भारत की हजारों जमीन चीन को सौंपने का पाप किया है तो वो एक भ्रष्ट , कायर राज परिवार है जिसने अपनी राजनीति के लिये देश को तोड़ दिया।


2/13/2021 12:27:50 PM kids programming
dfrarnathsingh
Source:

Jalandhar Gallery

Leave a comment