PUNJAB WEATHER

आरएसएस देशभक्ति की सबसे बड़ी पाठशाला, राहुल गांधी को समझने में लगेगा वक्त: जावड़ेकर


आरएसएस देशभक्ति की सबसे बड़ी पाठशाला, राहुल गांधी को समझने में लगेगा वक्त: जावड़ेकर

राहुल गांधी के इमरजेंसी वाले बयान पर भाजपा ने पलटवार किया है। केंद्रीय मंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि सभी संवैधानिक ढांचे को आपने खत्म करने की कोशिश की, मंत्री, सांसद, विधायक सबको जेल में डाला, प्रेस की आजादी पर पाबंदी लगा दी और यह भी कह रहे हम संवैधानिक ढांचे को खत्म कर रहे। राहुल की संघ को लेकर दिए बयान पर प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि उन्हें आरएसएस को समझने में वक्त लगेगा। आरएसएस देशभक्ति की सबसे बड़ी पाठशाला है और इसीलिए पूरी दुनिया में इसका आदर है। भारत में यह लोगों की भूमिका में परिवर्तन लाता है और उन लोगों को देश भक्ति के लिए प्रेरित करता है। दिल्ली नगर निगम उपचुनाव के नतीजों पर जावड़ेकर ने कहा कि इसमें हैरानी की कोई बात नहीं है जिसकी जो सीट थी वह उसके खाते में गई। 

गुजरात में नगर पालिका, जिला पंचायत और तालुका चुनाव में भाजपा के प्रदर्शन से गदगद जावड़ेकर ने कहा कि पार्टी के प्रति लोगों का विश्वास बढ़ रहा है। गुजरात में पार्टी ने एकतरफा विजय हासिल की जबकि कांग्रेस का सूपड़ा साफ हो गया। जावड़ेकर ने कहा कि हम लगातार जीत रहे हैं। बिहार विधानसभा चुनाव के बाद से हमने उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, कर्नाटक, तेलंगाना, गुजरात में उप चुनाव जीते। जावड़ेकर ने कहा कि पिछले सप्ताह गुजरात में 6 नगर निगमों के चुनाव हुए, जिनमें भाजपा ने 6 के 6 नगर निगम पिछली बार से अधिक बहुमत के साथ जीते हैं। कल 31 जिला पंचायतों के नतीजे आये हैं, जिसमें ग्रामीण और किसान मतदाता होते हैं। 2015 में हुए चुनाव में कांग्रेस ने 22 और भाजपा ने मात्र 9 जिला पंचायत जीते थे। लेकिन इस बार भाजपा ने सभी  31 जिला पंचायत जीते हैं और वहां कांग्रेस का सूपड़ा साफ हो गया।

जावड़ेकर ने आगे कहा कि इनमें सीट की संख्या 976 हैं, जिनमें से भाजपा ने 2015 में 368 जीते थे, जबकि इस बार 800 सीट जीती हैं यानी 80% सीट। ये बहुत बड़ी सफलता है। वहां तालुका पंचायत 231 हैं। भाजपा ने 196 जीते हैं। केवल 35 सीटों पर भाजपा नहीं आयी, बाकी सभी जगह भाजपा आयी। कांग्रेस केवल 18 सीटें जीती। गुजरात में हमने 2017 का चुनाव जीता। वहां हम एक प्रकार से 38 साल से सरकार में हैं। इतने समय तक जनता का साथ मिलना और वो बढ़ते जाना, ये राजनीति में एक अद्भुत करिश्मा है। कांग्रेस ने काफी कोशिश की इस इस चुनाव को जीतने की। कुछ विधायक स्थानीय निकाय चुनाव में खुद लड़े, कहीं उनके परिवार के लोग लड़े। लेकिन ऐसे सारे उम्मीदवार हार गए। 81 नगरपालिकाओं में से 72 जगह भाजपा जीती है, कांग्रेस को केवल 1 मिली है। 18 नगरपालिका में कांग्रेस की इतनी दुर्दशा हुई कि उन्हें 1 भी सीट नहीं मिली, 52 नगरपालिकाओं में 10 का आंकड़ा भी कांग्रेस पार नहीं कर पाई। जावड़ेकर ने दावा किया कि इस विजय का अर्थ है कि ये किसानों का वोट है। किसान कृषि सुधारों के साथ है।


3/3/2021 3:45:11 PM kids programming
Source:

Jalandhar Gallery

Leave a comment