कोरोना संकट के कारण विदेशों में फंसे प्रवासी भारतीयों की वतन वापसी के लिए केंद्र सरकार द्वारा संचालित वंदे भारत मिशन का दूसरा चरण जारी है। वंदे भारत मिशन के तहत पहली बार कल देर शाम झारखंड के प्रवासी भारतीयों की लंदन से विशेष विमान से गया इंटरनेशनल एयरपोर्ट होते हुए हजारीबाग वापसी हुई।

 

प्रवासी भारतीयों की वतन वापसी का भागीरथ अभियान वंदे भारत मिशन झारखंड के प्रवासी भारतीयों के लिए भी खुशियों का पैगाम लेकर आया। राज्य के कई प्रवासी कल लंदन से विशेष विमान से गया इंटरनेशनल एयरपोर्ट पहुंचे। इनमें से चार को झारखंड सरकार और हजारीबाग जिला प्रशासन की व्यवस्था व सुरक्षा के अंतर्गत देर शाम हजारीबाग लाया गया।

प्रशासन ने लन्दन से आए चारों प्रवासी भारतीयों को उनके खर्च पर होटल में 14 दिन के लिए क्वारंटाइन में रहने के लिए छोड़ा गया है। होटल पहुंचने के बाद चिकित्सकों ने सभी लोगों के स्क्रीनिंग भी की। इस मौके पर प्रवासी भारतीयों ने वंदे भारत मिशन की प्रशंसा की तथा कोरोना से लडाई में प्रधानमंत्री के नेतृत्व की तारीफ करते हुए कहा कि नरेंद्र मोदी ने समयपूर्व प्रो एक्टिव तरीके से कोरोना के प्रसार पर अंकुश लगाने के लिए प्रभावी कदम उठाये जिसके सकारात्मक परिणाम दिख रहे हैं।

इस दौरान लंदन से विशेष विमान से भारत लौटे प्रवासी भारतीय सुबीर ने लंदन के अपने अनुभवों को भी साझा किया तथा स्वादेश लाने के लिए केंद्र सरकार का आभार जताया। कोरोना संकट के कारण केंद्र सरकार लगातार लोगों को मदद पहुंचा रही है। बात चाहे देश की हो या विदेशी भूमि की केंद्र सरकार खुले मन से लोगों को घर तक सुरक्षित पहुंचाने के इस अभियान में पूरी तत्परता से लगी है जो उसकी