पंजाब सरकार ने कोरोना को फैलने से रोकने के लिए फिर से लॉकडाउन की घोषणा कर दी है। सरकार ने सप्‍ताहांत और सार्वजनिक छुट्टियों में पंजाब में सख्ती से लॉकडाउन करने के आदेश दिए हैं।

 

पंजाब में सप्‍ताहांत और सार्वजनिक अवकाश के दिन लॉकडाउन आज से शुरू हो गया। राज्‍य के मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने कोविड-19 के सामुदायिक संक्रमण की आशंका  और इस महामारी के चरम पर पहुंचने में करीब दो महीने लगने के अनुमान के बीच सप्‍ताहंत और सार्वजनिक अवकाश के दिन लॉकडाउन के आदेश दिए थे।

सप्‍ताहांत और सार्वजनिक छुट्टियों में छुट्टियों वाले दिन लॉकडाउन शुरू होने पर केवल ई-पास होने पर ही एक जिले से दूसरे जिले में जाने की इजाज़त दी जा रही है जो आवश्यक काम हेतू ही जारी किये जा रहे हैं। हालांकि डॉक्टरी संबंधी आपातकालीन स्थिति में ई-पास अनिवार्य नहीं है।

आवश्यक वस्तुओं और सेवाएं उपलब्ध कराने वाले व्यापारिक प्रतिष्ठानों को शाम सात बजे तक खुला रहने की इजाज़त दी गई है। अन्य दुकानें और शॉपिंग मॉल शाम पांच बजे तक ही खुले रहेंगे। खाने की घर पर आपूर्ति करने और खाना घर पर ले जाने के लिये सेवा देने वाले रेस्त्रां औऱ शराब की दुकानें शाम आठ बजे तक खुली रहेंगीं।

शादी समारोह के लिये केवल पचास निकट संबंधियों को ही ई-पास जारी किया जा रहा है।