प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज भारत- चीन सीमा स्थिति पर चर्चा के लिए सर्वदलीय बैठक बुलाई है. शाम 5 बजे होने वाली इस बैठक में देश के विभिन्न राजनीतिक दलों के अध्यक्षों को आमंत्रित किया गया है. सभी राजनीतिक दलों के अध्यक्ष वर्चुअल तरीके से यानी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बैठक से जुड़ेंगे.

 

सर्वदलीय बैठक में लद्दाख से लगी चीन की सीमा पर स्थिति, और खास तौर से गलवान वैली में वर्तमान स्थिति की चर्चा की जाएगी. गलवान वैली में 15-16 जून के  बीच की रात भारतीय सेना के 20 जवान मातृभूमि की रक्षा करते हुए शहीद हो गए थे. हालांकि इससे पहले उन्होंने चीन की सेना को भारी क्षति पहुंचाई थी, जिसमें भारी संख्या में उनके जवान मारे गए थे.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यह ऐलान किया है शहीद सैनिकों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा. चीन को सख्त संदेश देते हुए उन्होंने यह भी कहा है भारत शांति चाहता है, लेकिन भारत को उकसाने पर हर हाल में निर्णायक जवाब भी दिया जाएगा। इसके साथ ही उन्होंने ये भी भरोसा दिलाया है कि भारत अपनी अखंडता और संप्रभुता की रक्षा करने के लिए हर परिस्थिति में सक्षम है.  

 बैठक में पीएम मोदी इस बड़े मुद्दे पर ना सिर्फ राजनीतिक दलों को जानकारी देंगे बल्कि साथ ही आगे की रणनीति को लेकर चर्चा भी कर सकते हैं.