केंद्रीय पूर्वोत्तर क्षेत्र विकास मंत्री डॉक्टर जितेंद्र सिंह ने आकांक्षी जिलों में कोविड की ताजा स्थिति और स्वास्थ्य सुविधाओँ की समीक्षा की। पूर्वोत्तर के आकांक्षी जिलों की स्थिति पर विशेष ध्‍यान दिया गया।

 

केंद्रीय मंत्री ने बताया कि वैश्विक महामारी को देखते हुए मंत्रालय ने पूर्वोत्तर के आठ राज्यों में स्वास्थ्य सुविधाएं बढ़ाने विशेषकर संक्रामक रोगों के प्रबंधन के बुनियादी ढ़ाचे के विकास के लिए एक अरब 90 करो़ड़ रुपये मंजूर करने का फैसला किया है। डॉक्टर सिंह ने ऑनलाइन बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि आकांक्षी जिलों की अवधारणा 49 मुख्य संकेतकों पर आधारित है, जिनमें स्वास्थ्य सुविधाएं महत्पूर्ण संकेतक हैं।

बैठक में पूर्वोत्तर के 14 आकांक्षी जिलों के स्वास्थ्य सचिवों, उपायुक्तों और स्वास्थ्य अधिकारियों ने भाग लिया। डॉक्टर सिंह ने कहा कि पूर्वोत्तर विकास मंत्रालय ने इन राज्यों को पूर्वोत्तर विशेष ढांचागत विकास योजना से पांच अरब रुपये तक की स्वास्थ्य संबंधी परियोजनाओं के लिए प्रस्ताव भेजने का विकल्प दिया है। इसके तहत अभी तक असम, अरुणाचल प्रदेश, मेघालय, मणिपुर, सिक्किम और नगालैंड से प्रस्ताव मिल चुके हैं जबकि आठवें राज्य त्रिपुरा से प्रस्ताव मिलना बाकी है।