PUNJAB WEATHER

सुरों की मल्लिका आशा भोसले मना रही हैं अपना 87वां जन्मदिन

ASHA BHOSLE BIRTHDAY, ASHA BHOSLE BAY, BOLLYWOOD NEWS,

सुरों की मल्लिका आशा भोसले मना रही हैं अपना 87वां जन्मदिन

 

प्रसिद्ध गायिका आशा भोसले का आज 87वां जन्मदिन है। इनका जन्म 8 सितंबर 1933 को महाराष्ट्र के सांगली में हुआ था। इनके पिता का नाम दीनानाथ मंगेशकर और माता का नाम शेवांती मंगेशकर है।आशा की विशेषता है कि इन्होंने शास्त्रीय संगीत, गजल और पॉप संगीत हर क्षेत्र में अपनी आवाज़ का जादू बिखेरा है और एक समान सफलता पाई है। 

आशा भोंसले की पहली शादी 16 वर्ष की उम्र में उनसे बड़े गणपत राव भोंसले से हुई। उनकी यह शादी परिवार की इच्छा के विरुद्ध हुई थी, जिस कारण उन्‍हें अपना घर भी छोड़ना पड़ा था। आशा जी का यह विवाह बेहद बुरी तरह असफल साबित हुआ था। शादी टूटने के बाद वह अपने बच्चों के साथ अपने घर आ गयीं। आशा जी ने दूसरी शादी राहुल देव वर्मन’(पंचम) की। यह विवाह आशा जी ने राहुल देव वर्मन की अंतिम सांसो तक सफलतापूर्वक निभाया। आशा जी की पहली शादी से उन्हें तीन बच्चे हैं। दो बेटे और एक बेटी।  

आशा भोंसले ने अपना पहला गीत वर्ष 1948 में सावन आया फिल्म चुनरिया में गाया। गायिकी के क्षेत्र मे आशा जी का  संघर्ष एक बेहतरीन उदाहरण है । एक समय जब प्रसिद्ध गायिका यथा- गीता दत्त, शमशाद बेगम और लता मंगेशकर का जमाना था। चारो ओर इन्ही का प्रभुत्व था। आशा जी गाना चाहती थी पर इन्हे गाने का मौका तक नहीं दिया जाता था। आशा जी सिर्फ दुसरे दर्जे की फिल्मों के लिए ही गा पाती थी। 1950 के दशक में बॉलीवुड के अन्य गायिकाओं की तुलना में आशा जी ने कम बजट की ‘बी’ और ‘सी’ ग्रेड फिल्मों के लिए बहुत से गीत गाए। इनके गीतो के संगीतकार ए. आर. कुरैशी (अल्ला रख्खा खान), सज्जाद हुसैन और गुलाम मोहम्मद थे। जो काफी असफल रहे। 1952 ई. में दिलीप कुमार अभिनीत फिल्म ‘संगदिल’ जिसके संगीतकार सज्जाद हुसैन थे, ने प्रसिद्धि दिलाई। परिणाम स्वरूप बिमल राय ने एक मौका आशा जी को अपनी फिल्म ‘परिणीता’ (1953) के लिए दिया। राज कपूर ने गीत ‘नन्हे मुन्ने बच्चे।...’ के लिए मोहम्मद रफी के साथ फिल्म ‘बुट पॉलिश्’(1954) के लिए अनुबंधित किया जिसने काफी प्रसिद्धि आशा जी को दिलाई। ओ.पी. नैयर ने आशा जी को बहुत बड़ा अवसर ‘सी. आई. डी.’(1956) के गीत गाने के लिए दिया। इस प्रकार 1957 की फिल्म ‘नया दौर’ बी आर. चोपड़ा ने नैयर साहब के संगीतकार रूप में आशा जी को बी. आर. चोपड़ा से पहली सफलता प्राप्त हुई। इस साझेदारी ने कई प्रसिद्ध गीतो को जनमानस के बीच लाने में महत्वपूर्ण योगदान दिया। आशा भोसले को पद्म विभूषण सम्मान से नवाजा गया है।

आशा भोंसले से जुडी कुछ रोचक बातें

1- आशा जी बेहद कम उम्र की थी, तभी उन्होंने संगीत की तालीम लेना शुरू कर दिया था, और महज दस साल की उम्र में हिंदी सिनेमा में गाने ही गाये। 

2- आशा जी हिंदी सिनेमा की बेहद अच्छी पार्श्व गायिका होने के साथ-साथ बेहद अच्छी मिमिक्री आर्टिस्ट भी हैं।  वह अपनी लता मंगेशकर और गुलफाम अली की खूब नकल करती हैं। 

3- जिस तरह आशा ताई रोमांटिक गाने गाती हैं, उसी तरह वह थी, उन्होंने महज 16 साल की उम्र में अपने उम्र में बड़े गणपत राव भोंसले से विवाह रचा लिया था।  उनकी इस शादी के बाद उनका और उनकी बहन लता का रिश्ता बेहद खराब हो गया।  और उनकी यह शादी भी महज कुछ साल ही चल सकी। 

4- दूसरी बार आशा ताई प्यार अपने से छ साल छोटे राहुल देव बर्मन से हुआ।  आशा जी का विवाह आरडी बर्मन से 1980 में हुआ जिसने उन्होंने आरडी बरम की अंतिम सांसो तक सफलतापूर्वक निभाया। 

5- आशा ताई पहले हिंदी सिनेमा में क्लासिकल सांग गाती थी, लेकिन जब उन्हें आजा आजा मैं हूँ प्यार तेरा गाना ऑफर किया तो उन्होंने गाने से मना आकर दिया, बाद में उन्होंने यह एक हफ्ते की रिहर्सल के बाद गाया, जो भी आज सुपरहिट है। 

6- आशा ताई नें हिंदी सिनेमा में छ दशक तक कई बेहतरीन गाने गाये, जब उनके जमाने के गायक रिटायरमेंट ले रहे थे, तब उन्होंने संगीत निर्देशक ए.आर रहमान के साथ मुझे रंग दे, तन्हा-तन्हा गानों से हिंदी सिनेमा में अपनी वापसी की। 

7- आशा जी हिंदी सिनेमा की अकेली ऐसी अभिनेत्रीं हैं, जिन्हे ग्रैमी पुरुस्कार के नामंकन मिला। 

 


9/8/2020 1:34:16 PM
ASHA BHOSLE BIRTHDAY, ASHA BHOSLE BAY, BOLLYWOOD NEWS,
Source:

Leave a comment






Latest post