PUNJAB WEATHER

वंदे भारत उड़ानों के लिए नए दिशा निर्देश

वंदे भारत उड़ानों के लिए नए दिशा निर्देश

गृह मंत्रालय ने वंदे भारत मिशन के तहत अंतरराष्ट्रीय उड़ानों के लिए जारी की. नई एसओपी वंदे भारत योजना के तहत विदेशों में फंसे वापसी के इच्छुक भारतीयों के लिए पहले की तरह पंजीकरण होगा अनिवार्य। एयर बबल समझौते के तहत आने वाले देशों में पंजीकरण की नहीं होगी ज़रूरत।

 

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने वंदे भारत और हवाई परिवहन के लिए विभिन्न देशों के साथ हुई बबल व्यवस्था के तहत अंतरराष्ट्रीय यात्रा के लिए स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोटोकॉल जारी किया है. इसके तहत भारतीय नागरिकों को भारतीय दूतावास या उच्चायोग के साथ रजिस्ट्रेशन कराना पड़ेगा जहां वह रह रहे हैं या फंसे हुए हैं. साथ ही उन्हें केंद्र सरकार के दिशानिर्देशों के मुताबिक विवरण भी उपलब्ध कराने पड़ेंगे. हालांकि एयर बबल समझौते के तहत होने वाली  उड़ानों के जरिए भारत आने के लिए उन्हें इस तरह  पंजीकरण की आवश्यकता नहीं होगी.

एयर बबल समझौता दो देशों के बीच एक ऐसा करार है, जिसमें दोनों देशों के एयरलाइंस सहमति और तय नियमों के आधार पर उड़ान संचालित करते हैं. फिलहाल अमेरिका, फ्रांस, जर्मनी, कतर, यूके, यूएई और मालदीव के साथ भारत का एयर बबल समझौता है. तेरह अन्य देशों के साथ भारत एयर बबल करार के लिए बातचीत कर रहा है. इसके साथ ही नेपाल, भूटान, श्रीलंका, अफगानिस्तान और बांग्लादेश के साथ भी ऐसा ही समझौता प्रस्तावित है. उधर वंदे भारत योजना के तहत शनिवार तक रिकॉर्ड  साढ़े ग्यारह लाख से ज्यादा भारतीयों को स्वदेश लाया गया है.


8/24/2020 10:46:50 AM
Source:

Leave a comment






Latest post