राष्‍ट्रव्‍यापी लॉकडाउन का कुछ और रियायतों के साथ चौथा चरण आज से शुरू हो गया है। केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने कल इसकी अवधि 14 दिन बढ़ाकर 31 मई तक करने की घोषणा की थी। 25 मार्च से लागू लॉकडाउन से देश में कोविड-19 का फैलाव रोकने में काफी मदद मिली है। चौथे चरण में पिछले चरणों के मुकाबले कई और रियायतें दी गयी हैं।

 

केन्‍द्र ने राज्‍यों और केन्‍द्रशासित प्रदेशों को रेड, ऑरेंज और ग्रीन जोन निर्धारित करने की अनुमति दी है। राज्‍य और केन्‍द्रशासित प्रदेश, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मानकों के अनुसार जिला, सब डिवीजन या नगर पालिकाओं को इन तीन अलग-अलग जोन में बांट सकेंगे।

रेड जोन और ऑरेंज जोन के बीच स्थित कंटेन्‍मेंट क्षेत्र  के एक हिस्से को बफर जोन यानी प्रतिरोधक क्षेत्र के रूप में चिन्हित किया जाएगा। सरकार ने स्पष्ट किया है कि कंटेन्‍मेंट  क्षेत्र में चिकित्सा और आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति के अलावा अन्य किसी गतिविधि की अनुमति नहीं होगी। हमारे संवाददाता ने बताया कि गृहमंत्रालय ने उन सभी गतिविधियों की सूची जारी की है जिन पर अगले 14 दिनों तक रोक रहेगी।

राष्ट्रव्यापी स्तर पर प्रतिबंधित गतिविधियों के अलावा राज्य और केंद्र शासित प्रदेश तीनों क्षेत्रों में शुरू की  जा सकने वाली  अन्‍य गतिविधियों के बारे में फैसला कर सकेंगे। अन्‍तर्राज्‍यीय  परिवहन के बारे में भी राज्‍य और केन्‍द्रशासित प्रदेश आपस में निर्णय ले सकेंगे। सरकार ने खेल-कूद परिसर और स्टेडियम खोले जाने की भी अनुमति दी है, हालांकि इनमें दर्शकों के जाने की इजाजत नहीं होगी।

ऑनलाइन और दूरस्थ शिक्षा को अधिक बढ़ावा देने के उपाय किए जाएंगे। सरकार ने सभी नियोक्ताओं से कहा है कि उनके सभी कर्मचारी अपने मोबाईल फोन में आरोग्य सेतु एप डाउनलोड करें। सरकार ने 65 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों,  रोगियों, गर्भवती महिलाओं और 10 वर्ष से कम उम्र के बच्चों को लॉकडाउन जारी रहने तक घर में ही रहने का परामर्श दिया है।