मौसम की जानकारी देने वाली निजी कंपनी स्काईमेट (Skymet) के मुताबिक मानसून केरल तट पर 1 जून के बजाय 28 मई तक पहुंच सकता है.

नई दिल्ली. इस साल मानसून समय से पहले दस्तक दे सकता है. मानसून और मौसम की जानकारी देने वाली निजी कंपनी स्काईमेट

के मुताबिक मानसून केरल तट पर 1 जून के बजाय 28 मई तक पहुंच सकता है. एजेंसी के मुताबिक अंडमान सागर में मानसून अपने निर्धारित समय से 4-5 दिन पहले ही आ सकता है.

बता दें कि देश के सरकारी मौसम कार्यकल आईएमडी ने भी अंडमान सागर में मानसून का ऑनसेट 22 मई तक होने का अनुमान जताया है लेकिन केरल पहुंचने की तारीख को बिना बदलाव के 1 जून ही रखा है. स्काईमेट ने अपने एक बयान में कहा है कि इस साल दक्षिण पश्चिम मानसून अपने सामान्य निर्धारित ऑनसेट डेट 1 जून से 4 दिन पहले ही 28 मई को केरल तट पर दस्तक दे सकता है.

भारतीय मौसम विभाग ने भी कहा है कि मानसून के लिए मौसमी स्थितियां काफी अनुकूल नजर आ रही हैं. मौसम ब्यूरो ने भी इस साल के लिए अंडमान सागर पर नॉर्मल ऑनसेट डेट को 20 मई से बदलकर 22 मई कर दिया है. हालांकि इसने केरल में मानसून पहुंचने की तिथि में कोई बदलाव ना करते हुए 1 जून ही रखा है.

भारतीय मौसम विभाग ने भी कहा है कि मानसून के लिए मौसमी स्थितियां काफी अनुकूल नजर आ रही हैं. मौसम ब्यूरो ने भी इस साल के लिए अंडमान सागर पर नॉर्मल ऑनसेट डेट को 20 मई से बदलकर 22 मई कर दिया है. हालांकि इसने केरल में मानसून पहुंचने की तिथि में कोई बदलाव ना करते हुए 1 जून ही रखा है.

आपके राज्य में कब पहुंच सकता है मानसून
IMD की रिपोर्ट के अनुसार महाराष्ट्र, गुजरात, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, ओडिशा, झारखंड, बिहार और उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों में मानसून सामान्य तारीखों की तुलना में  3 से 7 दिनों की देरी से आएगा. दिल्ली के लिए मानसून की सामान्य शुरुआत की तारीख 23 जून से 27 जून तक संशोधित की गई है. इसी तरह, मुंबई और कोलकाता के लिए 10 से 11 जून तक और चेन्नई में 1 से 4 जून तक की तारीखों को संशोधित किया गया है.