PUNJAB WEATHER

इंसान का खान पान ही उसके स्वस्थ और सुखी जीवन का आधार होता है:पंडित विपन शर्मा

traditional Indian food

इंसान का खान पान ही उसके स्वस्थ और सुखी जीवन का आधार होता है:पंडित विपन शर्मा

इंसान का खान पान ही उसके स्वस्थ और सुखी जीवन का आधार होता है।  इंसान के खान पान से ही उसके चरित्र और उसकी जीवन शैली को निर्धारित करता है। पुराने समय में आयुर्वेदाचार्य या हकीम नब्ज़  देख  कर ही सब बता देते है। इसका कारण यही रहा होगा की वो नब्ज़  की गति से इसका अंदाजा लगा लेते थे मनो नाड़ी स्वयं उनसे साक्षात् प्रकट हो कर बात करती हो और सामने वाले के बारे न सिर्फ उसके खान पान बल्कि उसके उसी के आधार पर उसका चरित्र और उसे कौन से बीमारी है ये तक बता देते थे।  उस समय का विज्ञान कितना विकसित था ये इस बात से भी प्रमाणित  होता है की हमारे ऋषि मुनियो ने कितने मेहनत और शोध के बाद महीनो और ऋतु  परिवर्तन के आधार पर खान पान का निर्धारण किया था।  कौन से मौसम में कौन से माह में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं खाना चाहिए जिसे आज के समय में हम (Diet chart ) कहते है।  ऐसा इसलिए करना पड़ा क्यों की उसके पीछे विज्ञान और ज्योतिष कारण  थे।  माह परिवर्तन और ऋतू परिवर्तन का आधार ग्रहो की चाल ही तो है ग्रहो की चाल से परिवर्तन होते है  सूर्य के राशि परिवर्तन से उस से निकलने वाली किरणे ही प्रभावित करती है। जैसे जैसे सूर्य की गति बदलती रहती है|

click on following link for more details:

https://vedaurshastra.blogspot.com/2020/06/blog-post.html

click here for youtube video

https://www.youtube.com/watch?v=g8voa4n6AYs&feature=youtu.be


6/5/2020 2:03:22 PM
traditional Indian food
Source:

Leave a comment






Latest post