प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार 11 अक्टूबर को उज्जैन में महाकाल लोक का लोकार्पण किया। पीएम ने वैदिक मंत्रोच्चार के बीच रक्षा सूत्र (कलावे) से बनाए गए 15 फीट ऊंचे शिवलिंग का प्रतीकात्मक अनावरण कर महाकाल लोक का उद्घाटन किया। इस दौरान उनके साथ मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी मौजूद थे। महाकाल लोक का उद्घाटन करते समय पीएम मोदी जहां मंत्रमुग्ध नजर आए, वहीं उन्हें शिव संसार का दर्शन कराने के लिए खुद ‘शिव’राज उनके गाइड बने।

उद्घाटन के बाद पीएम मोदी और शिवराज ने बैटरी वाली गाड़ी से महाकाल लोक का भ्रमण किया। इस दौरान शिवराज सिंह चौहान खुद पीएम मोदी को महाकाल लोक के बारे में गाइड करते नजर आए।

रक्षासूत्र से बनाए गए 16 फीट ऊंचे शिवलिंग को लेकर विद्वानों का कहना है कि रक्षा शुभता का प्रतीक है। यह सुरक्षा का कारक है और धर्म में एकाग्रता को बढ़ाता है। इसका लाल रंग अशुभता हटाता है, पीला ज्ञान वृद्धि करता है। हरा रंग समृद्धि देता है, नीला मानसिक अवसाद को दूर करता है।

महाकाल लोक का उद्घाटन करने के बाद पीएम मोदी ने वहां मौजूद साधु-संतों का हाथ जोड़कर अभिवादन किया। इस दौरान मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी उनके साथ थे।

महाकाल लोक का उद्घाटन होने के बाद झारखंड से आए लोक कलाकारों ने भव्य प्रस्तुति दी। इस दौरान रोशनी में नहाया कॉरिडोर देखते ही बन रहा था।

इससे पहले मोदी ने महाकाल के दर्शन किए। उन्होंने गर्भगृह में बैठकर महाकाल की पूजा-अर्चना की। साथ ही कुछ देर जप करने के बाद आरती उतारी और शिवजी का आशीर्वाद लिया।

बता दें कि 900 मीटर से ज्यादा क्षेत्रफल में फैले महाकाल लोक को बनाने के लिए करीब 856 करोड़ रुपए खर्च किए गए हैं। इससे पहले पीएम मोदी ने दिसंबर, 2021 में काशी कॉरिडोर का उद्घाटन किया था।

महाकाल लोक में भक्तों को नीलकंठ महादेव, सती के शव के साथ शिव, कैलाश पर शिव, यम संवार, गजासुर संहार, आदि योगी शिव, योगेश्वर अवतार, त्रिवेणी प्लाजा पर शिव, शक्ति और श्रीकृष्ण की प्रतिमाएं, कैलाश पर रावण की प्रतिमाएं शिव की महिमा का गुणगान करती दिखेंगी।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.