शिरोमणि अकाली दल (शिअद) ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के सभी राज्यों में एनआईए कार्यालय खोलने के बयान की शुक्रवार को आलोचना की और कहा कि ऐसा करने से केंद्रीय एजेंसी को राज्य पुलिस से अधिक शक्तियां मिल जाएंगी।

शिरोमणि अकाली दल (शिअद) ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के सभी राज्यों में एनआईए कार्यालय खोलने के बयान की शुक्रवार को आलोचना की और कहा कि ऐसा करने से केंद्रीय एजेंसी को राज्य पुलिस से अधिक शक्तियां मिल जाएंगी। सुखबीर सिंह बादल नीत शिअद ने पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान पर अमित शाह के प्रस्ताव को मंजूरी देने का भी आरोप लगाया। शाह ने एक दिन पहले फरीदाबाद में सभी राज्यों के गृह मंत्रियों के चिंतन शिविर के दौरान कहा था कि वर्ष 2024 तक राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) हर राज्य में कम से कम एक कार्यालय खोलेगा।

शिअद नेताओं प्रेम सिंह चंदूमाजरा, महेशिंदर सिंह ग्रेवाल और डॉ दलजीत सिंह चीमा ने एक संयुक्त बयान में कहा कि यह चौंकाने वाली बात है कि मान चिंतन शिविर में शामिल होने वाले विपक्ष के एकमात्र मुख्यमंत्री थे और उन्होंने इस प्रस्ताव पर सहमति जताई। शिअद नेताओं ने बयान में कहा कि एनआईए को पंजाब में राज्य पुलिस से अधिक शक्तियां मिल जाएंगी। अकाली नेताओं ने कहा कि केंद्र को राज्यों के अधिकारों में कटौती करने के बदले उन्हें बढ़ाना चाहिए।

उन्होंने मान पर हमला बोलते हुए आरोप लगाया कि भगवंत मान देश के संघीय ढांचे को नष्ट करने के लिए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के साथ सांठगांठ कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि पंजाब के लोगों ने मुख्यमंत्री को राज्य के अधिकारों को गिरवी रखने का जनादेश नहीं दिया है और राज्य के अधिकारों की गारंटी संविधान द्वारा दी गई है।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.