अमृतसर: BSF की महिला कर्मियों ने भारत-पाकिस्तान बॉर्डर के पास मार गिराया ड्रोन, 20 करोड़ की हेरोइन बरामद

Punjab
Spread the love

अमृतसर में इंटरनेशनल बॉर्डर पर सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) की महिला जवानों ने बड़ी कार्रवाई की है. महिला जवानों ने बॉर्डर पर एक ड्रोन को मार गिराया है. ड्रोन से करीब 20 करोड़ की हेरोइन भी जब्त की गई है.

अमृतसर में सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) की महिला जवानों ने बॉर्डर के अंदर दाखिल हुए ड्रोन को मार गिराया है. ड्रोन से 3 हेरोइन के पैकेट बंधे हुए थे, जिनका वजन 3.1 किलोग्राम है. इसकी कीमत इंटरनेशनल मार्केट में 20 करोड़ के करीब बताई जा रही है. अधिकारियों का कहना है कि बीएसएफ की महिला कांस्टेबल प्रीति और भाग्यश्री जब गश्त पर थीं, तो उन्होंने ड्रोन की आवाज सुनी. दोनों कर्मियों ने अमृतसर शहर से करीब 40 किलोमीटर उत्तर में चाहरपुर गांव के पास भारतीय क्षेत्र में ड्रोन को घुसते देखा, जिसके बाद उन्होंने उस पर गोलियां चलाईं. दोनों ने तकरीबन 25 राउंड फायर किए.

कुछ समय बाद ड्रोन की आवाज आनी बंद हो गई. उन्होंने बताया कि तलाश अभियान के दौरान बीएसएफ को 6 रोटर (पंख) वाला मानवरहित यान ‘हेक्साकॉप्टर’ आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त स्थिति में मिला. उन्होंने बताया कि 18 किलोग्राम वजनी ड्रोन में 3.11 किलोग्राम नशीला पदार्थ रखा था, जिसे उसके नीचे सफेद रंग की एक पॉलिथीन में लपेटकर रखा गया था.

अमृतसर सीमा के पास मार गिराया ड्रोन

बीएसएफ के प्रवक्ता ने कहा कि बीएसएफ के सतर्क कर्मी एक ड्रोन को पकड़ने और तस्करी की कोशिश को नाकाम करने में एक बार फिर सफल रहे हैं. इससे पहले बीएसएफ ने अमृतसर में अंतरराष्ट्रीय सीमा के निकट एक पाकिस्तानी ड्रोन को मार गिराया था. गौरतलब है कि पंजाब पुलिस ने रविवार को कहा कि उसने एक व्यक्ति को गिरफ्तार कर उसके पास से 8 चीनी पिस्तौलें, 60 गोलियां और दो किलोग्राम हेरोइन जब्त की है. इन हथियारों को पाकिस्तान से ड्रोन के जरिए भारत में तस्करी कर लाया गया था.

आरोपी की पहचान तरनतारन जिले के हवलियां गांव निवासी परमजीत सिंह के रूप में हुई है. पुलिस के पास पुख्ता सूचना थी कि ड्रोन के जरिए पाकिस्तान से हथियारों, गोला-बारूद और मादक पदार्थों की खेप की तस्करी की जाएगी. पुलिस ने कहा कि ड्रोन ने शुक्रवार को भारतीय क्षेत्र के अंदर यह खेप गिरा दी थी और परमजीत सिंह ने शनिवार को इसे बरामद कर लिया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *