राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने कहा है कि सीमा पार आतंकवाद और इस्लामिक स्टेट से प्रेरित आतंकवाद गंभीर खतरा बना हुआ है।

डोभाल आज नई दिल्ली में भारत तथा इंडोनेशिया में धार्मिक शांति और सामाजिक सद्भाव की संस्कृति को बढ़ावा देने में उलेमा की भूमिका पर आयोजित सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि भारत और इंडोनेशिया आतंकवाद तथा अलगाववाद से पीड़ित हैं। डोभाल ने भारत और इंडोनेशिया के आपसी संबंधों के बारे में कहा कि दोनों देश महत्वपूर्ण भागीदार हैं। उन्होंने कहा कि दोनों राष्ट्र व्यापक और विस्तारित आर्थिक तथा सांस्कृतिक सहयोग साझा करते हैं। राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ने कहा कि हिंद-प्रशांत क्षेत्र में लोकतंत्र को फलने-फूलने में दोनों पक्षों का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। उन्होंने कहा कि उलेमा, मुसलमानों के बीच शिक्षा का प्रसार करने और कट्टरपंथ तथा अलगाववाद का मुकाबला करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। इंडोनेशिया के राजनीतिक, कानूनी और सुरक्षा मामलों के मंत्री प्रो. डॉ. मोहम्मद महफूद एम.डी. ने भी कार्यक्रम को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि उलेमा ने धार्मिक शांति और सामाजिक सद्भाव की संस्कृति को बढ़ावा देने में बहुत योगदान दिया है। उन्होंने सभी से सौहार्दपूर्ण समाज बनाने के लिए मिलकर काम करने का आग्रह किया।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.