दिल्ली में चार दिसंबर को नगर निगम की 250 सीटों के लिए मतदान हो रहा है। मतदान की प्रक्रिया सुबह आठ बजे से शुरू हो गई है, जो शाम 5.30 बजे तक जारी रहेगी। इस बार चुनाव में कुल 1336 प्रत्याशी मैदान में है। सभी की किस्मत का फैसला आज ईवीएम में बंद होने जा रहा है।

दिल्ली में चार दिसंबर यानी रविवार को नगर निगम चुनाव के लिए मतदान की शुरुआत हो गई है। रविवार होने के कारण सुस्ती के साथ लोग घरों से निकलकर मतदान केंद्रों तक पहुंच रहे है और अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर रहे है। दिल्ली के 250 वार्डों के लिए मतदान की शुरुआत सुबह आठ बजे से हो गई है। मतदान शाम 5:30 बजे तक किए जाएंगे। दिल्ली नगर निगम के 250 वार्डों पर होने वाले चुनाव के लिए 13,638 मतदान केंद्र और 68 पिंक पोलिंग बूथों पर वोटिंग हो रही है। इस बार चुनाव में 1336 प्रत्याशी मैदान में हैं, जिसमें 709 महिला प्रत्याशी हैं।

दिल्ली में 104 सीटें पुरुषों के लिए रिजर्व है जबकि 104 सीट महिलाओं के लिए रिजर्व है। वहीं, 42 सीट एससी के लिए आरक्षित हैं। इन सीटों के लिए आज कुल 1,46,73,847 मतदाता वोट देंगे। इसमें 79,86,705 पुरुष व 66,86,081 महिलाएं और 1,061 ट्रांसजेंडर मतदाता हैं। दिल्ली एमसीडी पर फिलहाल भाजपा का कब्जा है। जानकारी के मुताबिक भाजपा 2007 से एमसीडी की सत्ता में है और चौथी बार सत्ता में आने की कोशिश कर रही है। हालांकि इस बार एमसीडी चुनाव कांग्रेस, भाजपा और आम आदमी पार्टी के बीच है। भाजपा और ‘आप’ के 250 उम्मीदवार आज चुनाव मैदान में है जबकि कांग्रेस के केवल 247 उम्मीदवार अपनी किस्मत निगम चुनावों में आजमा रहे है।

बता दें कि मतदान केंद्रों पर ईसीआईएल कंपनी द्वारा तैयार एम-2 मॉडल की ईवीएम का इस्तेमाल किया जा रहा है। प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में कम से कम एक आदर्श मतदान केंद्र बनाया गया है। प्रत्येक निर्वाचन क्षेत्र में एक मतदान केंद्र ऐसा है जिसका संचालन महिला अधिकारियों द्वारा हो रहा है। जानकारी के मुताबिक इस बार मतदान केंद्रों की संख्या करीब 13,665 होगी जबकि 2017 में मतदान केंद्रों की संख्या 13,138 थी। चुनाव आयोग के अधिकारियों के अनुसार इस चुनाव में किसी उम्मीदवार द्वारा खर्च की अधिकतम सीमा आठ लाख रुपये तय की गई है।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.