आय से अधिक संपत्ति मामले में विजिलेंस दफ्तर में गुरदासपुर के कांग्रेस विधायक बरिंदरमीत सिंह पाहड़ा मंगलवार को पेश हुए। अमृतसर रेंज के एसएसपी वरिंदर सिंह भी विशेष तौर पर गुरदासपुर पहुंचे। सुबह साढ़े नौ बजे से लेकर शाम साढ़े चार बजे तक करीब आठ घंटे पाहड़ा से पूछताछ चली।विजिलेंस ने कई जायदादों की खरीद संबंधी विधायक से दस्तावेज मांगे। अब सात दिन बाद वह दोबारा विजिलेंस के सामने पेश होंगे। विजिलेंस ने विधायक बरिंदरमीत सिंह पाहड़ा, भाई एवं मौजूदा नगर परिषद प्रधान बलजीत सिंह पाहड़ा, पिता गुरमीत सिंह पाहड़ा एवं चचेरे भाई एवं जगबीर सिंह जग्गी को पूछताछ के लिए बुलाया था। पाहड़ा एवं उनके परिवार की खातों की जांच संबंधी एक पत्र वायरल होने पर यह बात तय थी कि विधायक पाहड़ा विजिलेंस के निशाने पर हैं।

विजिलेंस दफ्तर से बाहर आने पर विधायक बरिंदरमीत सिंह पाहड़ा ने कहा कि वह हर प्रकार की जांच के लिए तैयार हैं। वह जांच में पूरी तरह सहयोग करेंगे और क्लीन चिट लेंगे।
विजिलेंस विभाग की ओर से तलब किए जाने पर जब विधायक बरिंदरमीत सिंह पाहड़ा दफ्तर पहुंचे तो उस दौरान डीएसपी की ओर से उन्हें सैल्यूट मारा गया। इसका वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ। इस पर एसएसपी वरिंदर सिंह ने कहा कि विधायक को सैल्यूट करना एक प्रोटोकोल का हिस्सा है। परंतु सैल्यूट डीएसपी की ओर से मारा गया है जो जांच अधिकारी नहीं है, क्योंकि मामले की जांच वह खुद कर रहे हैं।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.