16 जनवरी से भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की एक बड़ी बैठक शुरू हो रही है। इस बैठक में अध्यक्ष को लेकर बड़ा फैसला लिया जा सकता है।

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा का कार्यकाल खत्म हो रहा है। ऐसे में इस बात की संभावना जताई जा रही है कि 2024 के लोकसभा चुनाव को देखते हुए जेपी नड्डा के कार्यकाल को विस्तार दिया जा सकता है। हालांकि, इसको लेकर अब तक पार्टी की ओर से कुछ भी आधिकारिक तौर पर साफ नहीं किया गया है। 16 जनवरी से भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की एक बड़ी बैठक शुरू हो रही है। इस बैठक में अध्यक्ष को लेकर बड़ा फैसला लिया जा सकता है। भाजपा के इतिहास को देखें तो अब तक चुनाव के समय जिन भी अध्यक्ष का कार्यकाल खत्म हो रहा होता है, उनको विस्तार दिया जाता है। 2019 चुनाव की बाद करें तो अमित शाह को भी विस्तार दिया गया था। ऐसे में इस बात की संभावना ज्यादा जताई जा रही है।

हालांकि, यह बात भी सही है कि 2023 और 2024 के चुनाव को लेकर भाजपा के संगठन में बड़े बदलाव हो सकते हैं। इसके अलावा कुछ ऐसे नेता जिन्हें पिछले कैबिनेट विस्तार में शामिल नहीं किया गया था, उन्हें पार्टी में बड़ी जिम्मेदारी सौंपी जा सकती है। इसमें मुख्तार अब्बास नकवी, रविशंकर प्रसाद जैसे नेताओं के नाम शामिल हैं। आपको बता दें कि नड्डा ने जुलाई 2019 में पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष के तौर पर कामकाज शुरू किया था। 20 जनवरी 2020 को उन्हें भाजपा का अध्यक्ष बनाया गया था। ऐसे में जेपी नड्डा के कार्यकाल जनवरी 2023 में समाप्त हो रहा है। हालांकि, इस बात की संभावना ना के बराबर है कि किसी नए को अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी दी जाएगी।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.