PUNJAB WEATHER

भारत के लिए गौरव का क्षण, पहले ही प्रयास में 8 भारतीय समुद्रतटों को अंतरराष्ट्रीय ब्‍लूफ्लैग प्रमाण-पत्र मिले

kids programming

भारत के लिए गौरव का क्षण, पहले ही प्रयास में 8 भारतीय समुद्रतटों को अंतरराष्ट्रीय ब्‍लूफ्लैग प्रमाण-पत्र मिले

भारत के लिए बेहद गौरव का पल है कि भारत को ब्लू फ्लैग बीच वाले देशों की सूची में शामिल किया गया है। ब्लू फ्लैग बीच दुनिया के सबसे साफ समुद्री तट माने जाते हैं।

 

फाउंडेशन ऑफ एनवायरनमेंट एजुकेशन डेनमार्क की इंटरनेशनल ज्यूरी ने पिछले महीने वैज्ञानिकों,पर्यावरणविदों की राष्ट्रीय ज्यूरी द्वारा की गई अनुशंसा को स्वीकृति दे दी है। अब भारत के 8 समुद्री तटों को अंतर्राष्ट्रीय इको लेबल यानी ब्लू फ्लैग सर्टिफिकेशन मिलेगा। भारत के यह आठ बीच पांच राज्यों और 2 केंद्र शासित प्रदेशों में हैं जिन्हें ब्लू फ्लैग का टैग दिया गया है।

जिन समुद्री तटों को ब्लू फ्लैग दिया गया है उनमें शिवराजपुर (द्वारका गुजरात) घोघला (दिउ) कसारकोड और पदुबिद्री (कर्नाटक) कप्पड़ (केरल) रूषिकोंडा (आंध्र प्रदेश ) गोल्डन (पुरी ओडीशा) और राधा नगर (अंडमान एवं निकोबार दीप समूह) शामिल हैं। भारत को अंतरराष्ट्रीय ज्यूरी ने तटीय क्षेत्रों में प्रदूषण नियंत्रण की अंतरराष्ट्रीय बेस्ट प्रैक्टिस के लिए तीसरा पुरस्कार भी दिया है।

ब्लू फ्लैग को दुनिया में समुद्र तटों के लिए प्रतिष्ठित इको लेबल माना जाता है। अब तक भारत के किसी भी बीच के पास ब्लू फ्लैग का टैग नहीं था। भारत ने इंटीग्रेटेड कोस्टल जोन मैनेजमेंट प्रोजेक्ट के तहत अपना अलग  इको लेबल BEAMS शुरू किया था। ब्लू फ्लैग सर्टिफिकेशन ICZM प्रोजेक्ट के तहत था।

फिलहाल स्पेन में ब्लू फ्लैग बीच की संख्या सबसे ज्यादा है। भारत एशिया पैसिफिक क्षेत्र का पहला देश है जिसने लगभग 2 साल में यह उपलब्धि हासिल की है। जापान, दक्षिण कोरिया और यूएई अन्य एशियाई देश हैं जहां ब्लू फ्लैग बीच है लेकिन उन्हें यह उपलब्धि हासिल करने में 5 से 6 साल लगे थे।


10/12/2020 9:49:55 AM kids programming
Source:

Leave a comment






Latest post