PUNJAB WEATHER

कोरोना संक्रमित मरीजों के ठीक होने की दर बढ़कर 25 प्रतिशत से अधिक हुई: स्वास्थ्य मंत्रालय

kids programming
mohealth

कोरोना संक्रमित मरीजों के ठीक होने की दर बढ़कर 25 प्रतिशत से अधिक हुई: स्वास्थ्य मंत्रालय

देश में पिछले 24 घंटे के दौरान कोविड-19 महामारी से एक हजार 718 व्‍यक्ति संक्रमित हुए हैं। इनके साथ ही संक्रमित व्‍यक्तियों की कुल संख्‍या 33 हजार 50 पर पहुंच गई है।

 

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के अधिकारियों ने गुरुवार को नई दिल्‍ली में संवाददाता को बताया कि पिछले 14 दिनों के दौरान संक्रमित व्‍यक्ति का स्‍वस्‍थ होने का प्रतिशत 13 दशमलव शून्‍य छह से बढ़कर 25 प्रतिशत पर पहुंच गया है। यह एक सकारात्‍मक संकेत है। फिलहाल देश में कोरोना रोगियों के दोगुना होने की दर ग्‍यारह दिन हो गई है। लॉकडाउन से पहले यह दर तीन दशमलव चार दिन थी। पिछले 24 घंटे के दौरान इस घातक वायरस से 67 लोगों की मौत हुई है और 630 लोग स्‍वस्‍थ हुए हैं. दिल्‍ली, उत्‍तर प्रदेश, जम्‍मू-कश्‍मीर, ओडिशा, राजस्‍थान, तमिलनाडु और पंजाब में संक्रमित लोगों के दोगुना होने की दर राष्‍ट्रीय औसत से ज्‍यादा है। कर्नाटक, लद्दाख, हरियाणा, उत्‍तराखंड और केरल में यह औसत 20 से 40 दिन के बीच है। असम, तेलंगाना, छत्‍तीसगढ़ और हरियाणा में संक्रमित लोगों की दोगुने होने की दर 40 दिन से अधिक है। 

कोविड-19 महामारी से मृत्‍यु दर तीन दशमलव दो प्रतिशत है और मृतकों में 78 प्रतिशत लोग किसी अन्‍य बीमारी से भी पीडि़त हैं। अभी तक देश में आठ हजार 324 व्‍यक्ति कोविड-19 बीमारी से उभर चुके हैं जो कुल मामलों का 25 दशमलव एक नौ प्रतिशत है। फिलहाल 23 हजार 651 लोगों का इलाज चल रहा है। स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने गैर कोविड स्‍वास्‍थ्‍य सुविधा केन्‍द्र में संक्रमित या संदिग्‍ध मामलों के लिए दिशा-निर्देश जारी किये हैं। ऐसे केन्‍द्रों में संक्रमण मुक्ति की प्रक्रिया पूरी करने के बाद स्‍वास्‍थ्‍य सेवाएं जारी रखी जा सकती हैं। हाइड्रोक्‍सी क्‍लोरोक्‍वीन के इस्‍तेमाल के विस्‍तृत दिशा-निर्देश पिछले महीने की 23 तारीख को जारी किये गये थे।

आई सी एम आर राज्‍यों में रैपिड एंटीबॉडी टेस्‍ट किट के इस्‍तेमाल के संबंध में समन्‍वय कर रहा है। स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के अधिकारियों ने कहा है कि यह समझने की जरूरत है कि इस जांच की सीमित उपयोगिता है। पिछले पांच दिन में 49 हजार आठ सौ लोगों की जांच की गई है।  उन्‍होंने कहा कि फिलहाल कोविड-19 का कोई पुख्‍ता इलाज नहीं है। रेमडेसिवीर की जांच अभी की जा रही है। अध्‍ययन में यह प्रभावी नहीं पायी गई है। सरकार के विभिन्‍न संगठन कोविड-19 की दवा बनाने में लगे हुए हैं।

 


5/1/2020 10:37:00 AM kids programming
mohealth
Source:

Leave a comment






Latest post